top of page
  • BTF

संस्कृत केवल भाषा नही, विश्व की आत्मा है, संस्कृत महानायक आज़ाद

संस्कृत के अंतरराष्ट्रीय राजदूत, अहं ब्रह्मस्मि के उद्घोष से पूरे सनातन विश्व को जीवित, जाग्रत, उन्नत, प्राणवंत और पुनर्स्थापित करने वाले, मिलिटरी स्कूल के विद्यार्थी, संस्कृत महानायक मेगास्टार आज़ाद ने कहा कि संस्कृत मात्र भारत की भाषा नहीं है, ये विश्व को भावनात्मक रूप जोड़ने वाली आत्मा का संवाहक है। संस्कृत विश्व की प्रथम भाषा है | हज़ारों वर्ष पूर्व पूरा विश्व इस भाषा में बात करता था | जिस प्रकार हिंदू सनातन धर्म में गौतम बुद्ध जैसे महापुरुषों ने बुद्ध धर्म की शुरूआत की और कालांतर में महावीर धर्म, सिख धर्म बनते गए, उसी प्रकार से विश्व में अलग अलग समय में लोगों ने क्षेत्रीयता के नाम नई नई भाषाओं को जन्म देना शुरू किया और धीरे धीरे संस्कृत अपने मूल स्थान आर्यावर्त या ये कहें कि भारतवर्ष में ही सीमित हो कर रह गई। इसके बाद देश को विखंडित करने की कुछ लोगों की मानसिकता की वजह से भारत में भी संस्कृत समाप्त करने का प्रयास लगातार होता रहा और आज भी हो रहा है पर संस्कृत की जड़ें हिंदू धर्म में षोडश संस्कारों के घरेलू इस्तेमाल में होने की वजह पूरी तरह से समाप्त नहीं हो पायी | यहाँ तक की आज़ादी के बाद राजनीतिक रूप से प्रदेशों में क़ब्ज़ा करने की होड़ तहत कुछ नेताओं ने भारत में उत्तर- दक्षिण के भेदभाव के नाम लगातार हिंदी - तमिल और तमिल - संस्कृत के नाम पर विवाद शुरू कर दिया जो अब भी चल रहा है।





संस्कृत के अंतरराष्ट्रीय ब्रांड एम्बेसडर आज़ाद ने कहा कि सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि संस्कृत, योग और आयुर्वेद एक दूसरे के पूरक है।



राष्ट्रपुत्र आज़ाद ने कहा कि संस्कृत के बारे में जानना और उसका प्रचार प्रसार करना ही मात्र हमारी जवाबदारी नहीं है, हमारे लाखों वर्ष पुराने भारतीय सभ्यता, संस्कृति को दुनिया में फिर से अवगत कराने के साथ ही विश्व समुदाय को उसके लाभ से लाभान्वित कराना भी है।




आज के वैश्विक विज्ञान के युग में मैं कुछ वैज्ञानिक तरीक़े से भी संस्कृत की उपयोगिता के बारे में बताना चाहूँगा जो आपका जानना ज़रूर है।



1. मुगलो और हूणों के पूर्व या ये कहें कि अरबों के हमले के पूर्व तक भारत में संस्कृत बोली जाती थी। ईसा से लगभग 500 वर्ष पूर्व पाणिणी ने दुनिया का पहला व्याकरण ग्रंथ लिखा था, जो संस्कृत का था। इसका नाम ‘अष्टाध्यायी’ है।



2. संस्कृत, विश्व की सबसे पुरानी, यानी लाखों वर्ष पुरानी पुस्तक (ऋग्वेद) की भाषा है, जिसे देवभाषा माना जाता है, इसलिये इसे विश्व की प्रथम भाषा मानने में कहीं किसी संशय की संभावना नहीं है।



3. इसकी सुस्पष्ट व्याकरण और वर्णमाला की वैज्ञानिकता के कारण सर्वश्रेष्ठता भी स्वयं सिद्ध है।



4. संस्कृत ही एक मात्र साधन हैं जो क्रमशः अंगुलियों एवं जीभ को लचीला बनाते हैं।



5. संस्कृत अध्ययन करने वाले छात्रों को गणित, विज्ञान एवं अन्य भाषाएँ ग्रहण करने में सहायता मिलती है।



6. संस्कृत केवल एक मात्र भाषा नहीं है अपितु संस्कृत एक विचार है संस्कृत एक संस्कृति है एक संस्कार है संस्कृत में विश्व का कल्याण है शांति है सहयोग है वसुदैव कुटुम्बकम् कि भावना है।



7. नासा का कहना है की 6th और 7th generation super computers संस्कृत भाषा पर आधारित होंगे।



8. संस्कृत विद्वानों के अनुसार सौर परिवार के प्रमुख सूर्य के एक ओर से 9 रश्मियां (Beams of light) निकलती हैं और ये चारों ओर से अलग-अलग निकलती हैं। इस तरह कुल 36 रश्मियां हो गईं। इन 36 रश्मियों के ध्वनियों पर संस्कृत के 36 स्वर बने।



9. अरबी भाषा को कंठ से और अंग्रेजी को केवल होंठों से ही बोला जाता है किंतु संस्कृत में वर्णमाला को स्वरों की आवाज के आधार पर कवर्ग, चवर्ग, टवर्ग, तवर्ग, पवर्ग, अंतःस्थ और ऊष्म वर्गों में बांटा गया है।



10. संस्कृत उत्तराखंड की आधिकारिक राज्य (official state) भाषा है।



11. अरब आक्रमण से पहले संस्कृत भारत की राष्ट्रभाषा थी।



12. कर्नाटक के मट्टुर (Mattur) गाँव में आज भी लोग संस्कृत में ही बोलते हैं।



13. जर्मनी के 14 विश्वविद्यालय मे संस्कृत ( Sanskrit ) पढ़ाया जाता है।



14. संस्कृत में बात करने वाला मनुष्य बीपी, मधुमेह, कोलेस्ट्रॉल आदि रोग से मुक्त रहता है।



15. संस्कृत में बात करने से मानव शरीर का तंत्रिका तंत्र सक्रिय रहता है। जिससे कि व्यक्ति का शरीर सकारात्मक आवेश के साथ सक्रिय हो जाता है।



16. यूनेस्को ( UNESCO ) ने भी मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक विरासत की अपनी सूची में संस्कृत वैदिक जाप को जोड़ने का निर्णय लिया गया है। यूनेस्को ( UNESCO ) ने माना है कि संस्कृत भाषा में वैदिक जप मानव मन, शरीर और आत्मा पर गहरा प्रभाव पड़ता है।



17. शोध से पाया गया है कि संस्कृत (Sanskrit) पढ़ने से स्मरण शक्ति (याददाश्त) बढ़ती है।



18. संस्कृत वाक्यों में शब्दों की किसी भी क्रम में रखा जा सकता है। इससे अर्थ का अनर्थ होने की बहुत कम या कोई भी सम्भावना नहीं होती। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि सभी शब्द विभक्ति और वचन के अनुसार होते हैं। जैसे- अहं गृहं गच्छामि या गच्छामि गृहं अहं दोनों ही ठीक हैं।



19. नासा के वैज्ञानिकों के अनुसार जब वो अंतरिक्ष ट्रैवलर्स को मैसेज भेजते थे तो उनके वाक्य उलट हो जाते थे। इस वजह से मैसेज का अर्थ ही बदल जाता था। उन्होंने कई भाषाओं का प्रयोग किया लेकिन हर बार यही समस्या आई। आखिर में उन्होंने संस्कृत में मैसेज भेजा क्योंकि संस्कृत के वाक्य उलटे हो जाने पर भी अपना अर्थ नहीं बदलते हैं। जैसा के ऊपर बताया गया है।



20. संस्कृत भाषा में किसी भी शब्द के समानार्थी शब्दों की संख्या सर्वाधिक है. जैसे हाथी शब्द के लिए संस्कृत में १०० से अधिक समानार्थी शब्द हैं।



21. हाल ही में कोरोना से मुक्ति के लिए अमरीकी राष्ट्रपति ने हमारे सनातन हिंदू धर्म में इस्तेमाल हो रहे संस्कृत के मंत्रों और श्लोकों का इस्तेमाल किया ।































CONNECT WITH US :



BHARAT BANDHU : https://bharatbandhu.com


MEGASTAR AAZAAD: https://www.aazaad.in/



SANSKRIT MAHANAYAK MEGASTAR AAZAAD: https://g.co/kgs/xCoRrE


MEGASTAR MAHARSHI AAZAAD: https://www.imdb.com/name/nm10048391/







THE BOMBAY TALKIES STUDIOS: https://www.thebombaytalkiesstudios.com/


AHAM BRAHMASMI MOVIE: https://g.co/kgs/g6zo7Q



RAJNARAYAN DUBE: https://bit.ly/2QNqxlp












BOMBAY TALKIES MUSIC : https://www.youtube.com/channel/UCBhL...


Bombay Talkies : https://bombaytalkies.co/


Pillar Of Indian Cinema : https://www.pillarofindiancinema.com/


World Literature Organization : https://www.worldliteratureorganizati...


Bombay Talkies Foundation : https://www.bombaytalkiesfoundation.com/


The Bombay Talkies Studios : https://www.youtube.com/channel/UCaFV...




BOMBAY TALKIES FOUNDATION : https://www.bombaytalkiesfoundation.com/


VISHWA SAHITYA PARISHAD : https://www.vishwasahityaparishad.com/


WORLD LITERATURE ORGANIZATION : https://www.worldliteratureorganizati...


KUMARI CHHAVI DEVI : https://www.kumarichhavidevi.com


PILLAR OF INDIAN CINEMA : https://www.pillarofindiancinema.com/


Dube Industries : https://dubeindustries.com



Chandra Shekhar Azad : https://g.co/kgs/A6evFz


Chandra Shekhar Azad : https://en.wikipedia.org/wiki/Chandra...




Mahatma Gandhi Kashi Vidyapith : https://bit.ly/3e7aQj2


Mahatma Gandhi Kashi Vidyapith : https://bit.ly/2RD9Zgz


B. S. Moonje : https://drbsmoonje.com


kumari chhavi devi : https://kumarichhavidevi.com


Comments


bottom of page